राष्‍ट्र्रीय शिक्षुता प्रशिक्षण योजना (NATS)

शिक्षुता प्रशिक्षण/व्‍यावहारिक बोर्ड द्वारा स्‍थापित

मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

एनएटीएस क्यों?

छात्र – एनएटीएस क्यों?

राष्ट्रीय प्रशिक्षुता प्रशिक्षण योजना छात्रों को केंद्र सरकार, राज्य सरकार और निजी क्षेत्र के कुछ सर्वोत्कृष्ठ संस्थानों में प्रशिक्षण प्राप्त करने के अवसर प्रदान करती है। जो छात्र अभियांत्रिकी में डिग्री या डिप्लोमा प्राप्त कर चुके हैं या +2 की व्यावसायिक योग्यता रखते हैं वे अपना नामांकन/पंजीयन एनएटीएस के वेब पोर्टल पर कराकर प्रशिक्षुता प्रशिक्षण के लिये आवेदन कर सकते हैं। अभियांत्रिकी में डिग्री/डिप्लोमा धारकों के लिए 126 और +2 व्यावसायिक योग्यता धारकों के लिये 128 विषय-क्षेत्र हैं जिनमें प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। प्रशिक्षण की अवधि 1 वर्ष की है। प्रशिक्षणार्थियों को वृत्तिका भी दी जाती है जिसकी 50% राशि का भुगतान भारत सरकार द्वारा नियोजकों/रोजगारदाताओं को किया जाता है। छात्रगण एनएटीएस वेब पोर्टल के माध्यम से प्रशिक्षुता प्रशिक्षण कि लिये अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। छात्रों को यह भी सलाह दी जाती है कि वे उन ‘प्रशिक्षुता मेलों’ में शामिल हों जिनका नियमित आयोजन इस प्रशिक्षण हेतु चयन के लिये किया जाता है। इस प्रशिक्षण योजना के लिये प्रशिक्षणार्थियों के चयन का विशेषाधिकार नियोजकों/ रोजगारदाताओं का है.

छात्र को प्राप्त होने वाले कुछ लाभ ये हैं

  • काम की प्राप्ति
  • प्रशिक्षुता प्रशिक्षण के लिये आवेदन करना
  • रोजगार प्राप्त करने से संबंधित युक्तियों की प्राप्ति

सामग्री व्यावहारिक प्रशिक्षण के शिक्षुता प्रशिक्षण / बोर्ड के बोर्डों द्वारा प्रदान की

Copyright © 2017 NATS. All Rights Reserved.